जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

रविवार, 9 जून को 1, अणे मार्ग, पटना स्थित ‘लोक संवाद’ में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में जदयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सम्पन्न हुई। इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारी व 21 राज्यों के अध्यक्ष के साथ राष्ट्रीय कार्यकारिणी के 91 सदस्य मौजूद रहे। इस बैठक में जदयू ने तय किया कि वह एनडीए का हिस्सा है और आगे भी रहेगी। वह बिहार में 2020 का विधानसभा चुनाव एनडीए के बैनर के नीचे श्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ेगी, लेकिन शेष राज्यों में पार्टी का रास्ता अलग होगा। 


राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट किया कि केन्द्र की सरकार में जदयू के शामिल नहीं होने का यह अर्थ कतई नहीं कि एनडीए के प्रति हमारी प्रतिबद्धता में कोई कमी है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हमें सांकेतिक प्रतिनिधित्व का प्रस्ताव दिया था, जिस पर पार्टी की सहमति नहीं थी। जदयू का मानना है कि लोकसभा में हमारे 16 तथा राज्यसभा में 6 सांसद हैं और केन्द्र में हमारा प्रतिनिधित्व हमारे संख्याबल के अनुपात में होना चाहिए था। केवल सांकेतिक रूप से सरकार में रहने का कोई अर्थ नहीं। अपना काम हमलोग वैसे भी पूरी निष्ठा के साथ कर रहे हैं। 


लगभग ढाई घंटे चली बैठक में यह प्रस्ताव पारित हुआ कि पार्टी को राष्ट्रीय दल का दर्जा हासिल करना है, इसलिए इस साल के अंत और अगले साल होने वाले चार राज्यों के चुनाव में वह अकेले लड़ेगी। सभी राज्यों में सदस्यता अभियान चलाने पर जोर दिया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नीतीश कुमार ने कहा कि दूसरे राज्यों की इकाइयां अगर प्रस्ताव देंगी तो पार्टी वहां अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। श्री नीतीश कुमार ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में जदयू एनडीए का हिस्सा बन सकती थी, लेकिन वहां हमसे बात नहीं की गई। अभी जदयू वहां प्रतिपक्ष की मुख्य पार्टी है और नेता विपक्ष भी हमारे दल से ही हैं। उन्होंने कहा कि नगालैंड में एनडीए की सरकार एक सीट के कारण नहीं बन पा रही थी। उन्होंने मदद मांगी तो जदयू ने समर्थन किया। वहां हमारे एक विधायक के समर्थन से सरकार चल रही है। हमारे विधायक मंत्री भी हैं। हमने उदारतापूर्वक नगालैंड में सहयोग दिया था। 


राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के निर्णयों की जानकारी पार्टी के प्रधान महासचिव श्री केसी त्यागी, राष्ट्रीय महासचिव श्री पवन वर्मा, श्री अफाक अहमद एवं श्री संजय झा ने मीडिया को दी। श्री त्यागी ने बताया कि हम दिल्ली, झारखंड, हरियाणा और जम्मू-कश्मीर में आसन्न विधानसभा चुनाव मजबूती से लड़ेंगे। कहां कितनी सीटों पर जदयू के प्रत्याशी होंगे, यह बाद में तय होगा। उन्होंने पूरे विश्वास के साथ कहा कि राष्ट्रीय पार्टी बनने की ओर अग्रसर जदयू 2020 में इस लक्ष्य को हासिल करेगी। इसके लिए तमाम जरूरी अहर्ताओं को पूरी करने की कोशिश की जाएगी।


कार्यकारिणी की बैठक में एक बार फिर यह संकल्प दुहराया गया कि आर्टिकल 370, समान नागरिक संहिता, राम मंदिर निर्माण जैसे विवादित मुद्दों पर जदयू का स्टैंड साफ है और पार्टी उससे कोई समझौता नहीं करेगी। केन्द्र सरकार अगर उस स्टैंड के इतर कोई निर्णय लेती है तो जदयू एनडीए में रहकर उसका विरोध करेगी। बैठक में बिहार के लोकसभा चुनाव तथा अरुणाचल विधानसभा चुनाव में मिली जीत पर खुशी जाहिर की गई।

Magazine

Facebook

Janata Dal United

आप जनता दल यूनाइटेड के आधिकारिक वेब पोर्टल पर हैं। आप चाहें तो हमसे संवाद भी करें। सुझाव हों, तो जरूर दें, हम स्वागत करेंगे।       संवाद

Contact Us

149, MLA Flat, Virchand Patel Path
Patna-800001
jdumedia@gmail.com

Follow Us

Janata Dal United